How To Use Saumya Ganpati Mantra


सौम्य  गणपति मंत्र 

 

Saumya Ganpati Mantra

यह मंत्र मूलत: वशीकरण सिद्धि के लिए उपयोग किया जाता है | इस मंत्र का साधक प्रत्येक प्राणी को वश में करने की क्षमता रखता है |  सौम्य गणपति मंत्र के अनेक लाभ है| इस मंत्र में माध्यम से साधक लक्ष्मी सिद्धि भी प्राप्त करता है | वह शीघ्र ही भूमिपति बनता है और कई प्रकार के वाहन उसकी सवारी में उपस्तिथ रहते हैं | 

 

The Saumya Ganpati Mantra is basically used for Attraction & Magnetism. The sadhak of this mantra has the ability to attract any creature. The Saumya Ganpati Mantra has many benefits. Through this mantra, the sadhak also attains Lakshmi Siddhi. Sadhak soon becomes a landlord and acquire many types of vehicles. The sadhak lives a luxurious life.

 

जो अभिलाषी किसी भी प्रकार की प्रतिस्पर्धा के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उनके लिए सौम्य गणपति मंत्र एक ब्रह्मास्त्र है | इसके निरंतर प्रयोग से कई प्रकार के सुअवसर प्राप्त होते हैं | यह मंत्र व्यव्सायिओं के लिए भी अत्यंत लाभकारी है | प्राण प्रतिष्ठित गणेश यन्त्र  के सामने 4 माला प्राण प्रतिष्ठित मूँगे की माला से निरंतर जाप करने से कारोबाऱ में वृद्धि होती है और हर प्रकार से व्यापार में उन्न्नति होती है| 

 

Saumya Ganpati Mantra is a Brahmastra for the aspirants who want to go into any type of competition. Many opportunities are obtained by its continuous use. This mantra is also very beneficial for businessman. Continuous chanting of 4 rosaries in front of the Energized Ganesh Yantra with Energized coral rosary to increase in business and growth in every sphere.

 

इस मंत्र का प्रयोग अपने सद्गुरु से ले कर ही करना चाहिए जिससे की सफलता और सिद्धि  मिल सके | जो भाग्यशाली साधक Divya Holi Tantra Vishesh Deeksha में भाग ले चुके हैं  उन्हें इस मंत्र की दीक्षा प्राप्त है | 

 

This mantra should be used only after receiving Saumya Ganpati Deeksha. Those lucky sadhak who have participated in Divya Holi Tantra Vishesh Deeksha have received initiation of this mantra by Sadgurudev.

 

How To Use Saumya Ganpati Mantra

 

अब इस मंत्र का काम्य प्रयोग कहते हैं | इस मंत्र की सिद्धि चार लाख मंत्र जप करने से होती है | इसके बाद बिल्ववृक्ष की 40 हज़ार आहुतियाँ देने से यह मंत्र सिद्ध होता है | हृदय पर्यन्त जल में खड़े होकर भगवान् सूर्य में तीन लाख की संख्या में जप करने से कोई भी साधक धन कुबेर बन जाता है | यह फल बिल्ववृक्ष के नीचे बैठ कर जपने से भी मिलता है |

 

The Mastery of this mantra is attained by chanting four lakh mantras. After this, the sadhak should perform yagya giving 40 thousand sacrifices of Bilva-vriksha. By standing in the water till the heart, chanting the number of three lakhs visualizing Ganpati in the Sun, any seeker becomes wealthy like Lord Kubera. This same result is also found by sitting under the Bilva-vriksha and chanting the same number of counts.

 

अशोक की लकड़ी से प्रज्जवलित अग्नि में घृत मिश्रित चावलों से होम करने पैर सारा विश्व वश में होता ही है | खदिर की लकड़ी से हवन करने से किसी भी मुक़दमे में विजय प्राप्त होती है | पायस के होम से महालक्ष्मी प्रसन्न होती है | इसकी निरंतर 11 माला जप करने से किसी भी तरह के Competitive Exams में सफलता मिलती है | 


By performing the Yagya lit by Ashoka's wood and with the rice mixed wiith the cow ghee whole world remains in control of the sadhak . Havan with Khadir wood helps in any litigation. Mahalakshmi is pleased with the home of the Payas. Chanting 11 mala of Saumya Ganpati Mantra continuously gives success in any type of competitive exams.

 

Saumya Ganpati Mantra

 

ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वरवरद सर्वजनं में वशमानय स्वाहा

Om Shreem Gam Saumyay Ganpatye Var Varad SarvJanam Me Vashmanay Swaha


 Contact WhatsApp

Published on Mar 22nd, 2020


Do NOT follow this link or you will be banned from the site!