Guru Gorakhnath Shabar Mantra


गुरु गोरखनाथ शाबर मंत्र 

 

gorakhnath mantra

योगी गोरखनाथ एक महान  योगी थे जिनका योगदान हिन्दू समाज में अनिर्वचनीय है | योगी गोरखनाथ ने हिन्दू समाज का उत्थान किया और एक कई कुरीतियों को समाप्त किया | जिस समय योगी गोरखनाथ का जन्म हुआ उस समय देश में कई मत प्रचलित हो चुके थे | योगिनी कौल, पाशुपत, सौर और दत्तात्रेय जैसे कई मत थे जिनमे मांस, मद्य और मैथुन की प्रधानता थी | योनि पूजा चिर यौवन पैर थी | भैरव और भैरवी समागम साधना एक कर्म बन चुका था और कामरूप देश का विचार तेजी से फैल रहा था | 

 

Yogi Gorakhnath was a great yogi whose contribution to Hindu society is irreplaceable. Yogi Gorakhnath uplifted Hindu society and abolished a number of evil practices. At the time of his birth, many opinions were prevalent in the country. There were many opinions like Yogini Kaul, Pashupat, Saura and Dattatreya, in which meat, alcohol and mating were predominant. Vagina worship was everlasting feat. Bhairava and Bhairavi Samagam Sadhana had become a karma and the idea of ​​Kamrup country was spreading rapidly.

 

योगी गोरखनाथ ने समाज को नई विचारधारा और तांत्रिक साधनाओं का सरलतम रूप समझाया और आम-जन की भाषा में कई प्रयोग संपन्न करवाई जिन्हें शाबर साधनाओं का रूप दिया गया| उनके बताय प्रयोग सरल थे जिन्हे कोई भी साधक सुलभता से संपन्न कर सकता था | उनकी शाबर साधनाओं में फल की तीव्रता थी जिनका प्रभाव शीघ्र ही मिल जाता था | योगी गोरखनाथ के बताय कुछ प्रयोगों को स्पष्ट किया जा रहा है जो अत्यंत लाभकारी हैं और यह शाबर प्रयोग सरल है | 

 

Yogi Gorakhnath explained to the society the simplest form of new ideology and tantric practices and carried out manysadhanas in common language which were given the form of Shabar Sadhanas. His stated sadhanas were simple, which any seeker could do with ease. There was intensity of fruits in their Shabar Sadhanas, whose effect was found soon. Some sadhanas of Yogi Gorakhnath are being explained which are very beneficial and this Shabar sadhana is simple.

 

गोरख देह रक्षा शाबर मंत्र प्रयोग

Gorakh Deh Raksha Shabar Mantra 

 

आज के समय में देह रक्षा सबसे महत्वपूर्ण है | यह शाबर प्रयोग न सिर्फ देह रक्षा में कारगर है बल्कि सर्व रक्षा भी करता है | इस प्रयोग के माध्यम से साधक कई प्रकार के धोखों से भी बच जाता है | व्यापार करने वाले साधक और नौकरी करने वाले साधकों को प्रतिस्पर्धा से होने वाले कष्टों को दूर करने हेतु इस प्रयोग को अवश्य संपन्न करना चाहिए | 

 

Physical protection is the most important in today's time. This shabar sadhana is not only effective in body defense but also protects from every evil. Through this sadhana, the sadhana can also avoid many kinds of deceptions. Businessmen and job seekers must carry out this sadhana to overcome the difficulties caused by competition.

 

  • ये साधना रात्रि को दस बजे के बाद प्रारम्भ की जा सकती है | 
  • साधक को स्नानादि से निवृत हो कर लाल रंग के वस्त्र पहनने चाहिए | 
  • लाल रंग का आसान और पूर्व दिशा की और मुख करना चाहिए | 
  • धूप दीप और लोबान प्रज्वलित कर लें | 
  • अपने गुरु का पूजन कर प्राण प्रतिष्ठित मूंगे की माला से इस शाबर मंत्र ली 5 माला मंत्र जप करना चाहिए | 

 

This sadhana can be started after ten o'clock in the night.
The seeker should wear red colored clothes after taking bath.
Sit on a Red color mat and facing east.
Burn incense and frankincense.
After worshiping your Guru, you should chant this Shabar Mantra with the Energized coral rosary.

 

मंत्र 


एक बगैचा तिरिया का, एक बगैचा गोरख का ,एक बगैचा  जोगन का , एक बगैचा गोरख का ,

चार बगैचा , दुइ के ऊपर चार बगैचा , गोरख ऊपर इक बगैचा , मंदिर वीर पहलवान का | 

ek bagaicha tiriya ka, ek bagaicha gorakh ka, ek bagaicha jogan ka, ek bagaicha gorkh ka,

char bagiacha, dui ke upar char bagaicha, gorakh upar ek bagaicha, mandir veer pehalwaan ka.

 

यह प्रयोग 5 मंगलवार को संपन्न करना है जिससे यह मंत्र सिद्ध हो जाता है | इसके बाद नित्य 1 माला मंत्र जप लाभकारी होता है और सर्व-विध रक्षा करता है | 1 वर्ष के बाद माला किसी हनुमान मंदिर में चढ़ा दें |

This sadhana is to be performed on 5 Tuesday. After this, chanting the 1 Mala of this Mantra is beneficial. After 1 year, offer the Energized coral rosary to a Hanuman temple.

 

शत्रु विजय गोरख शाबर मंत्र प्रयोग

Shatru Vijay Gorakh Shabar Mantra

 

  • यह गोरख शाबर मंत्र शत्रु की ईर्ष्या,घृणा और वैर को समाप्त करता है | 
  • ये साधना शनिवार रात्रि को दस बजे के बाद प्रारम्भ की जा सकती है | 
  • साधक को स्नानादि से निवृत हो कर  काले रंग के वस्त्र पहनने चाहिए | 
  • काले  रंग का आसान और दक्षिण  दिशा की और मुख करना चाहिए | 
  • धूप दीप और लोबान प्रज्वलित कर लें | 
  • अपने गुरु का पूजन कर प्राण प्रतिष्ठित काली हकीक  माला से इस शाबर मंत्र की 5 माला मंत्र जप करना चाहिए |
  •  
  • This Gorakh Shabar Mantra ends the envy, enmity and hatred of the enemy.
  • This sadhana can be started after ten o'clock on Saturday night.
  • The sadhak should wear black colored clothes after taking bath.
  • Sit on a Black color mat and facing south.
  • Burn incense and frankincense.
  • After worshiping your Guru, one should chant 5 rounds of this Shabar Mantra with the Energized Kali Hakik Mala.

 

 मंत्र

 

ॐ उलट बन्दे नरसिंह, उलट नरसिंह  पलट नरसिंह की काया, मार रे मार बलवंत वीर पल अन्त यम की काया,

क्यों कवच हम वज्र चलावा,कयों कवच तुम सामने आया, आदेश गुरु जी आदेश आदेश ||

om ulat bande narsimh, ulat narsimh palat narsimh, palat narsimh ki kaya, mar re mar balwant veer palant yam ki katya,

kyon kavach ham vajra chalawa, kyon kavach tum samne aaya, aadesh guru ji aadesh aadesh.


यह प्रयोग 5 शनिवार को संपन्न करना है जिससे यह मंत्र सिद्ध हो जाता है | इसके बाद नित्य 1 माला मंत्र जप लाभकारी होता है और सर्व-विध रक्षा करता है | 1 वर्ष के बाद माला किसी भैरव मंदिर में चढ़ा दें |

This sadhana is to be performed on 5 Saturdays. After this, chanting the 1 Mala of this Mantra is beneficial. After 1 year, offer the Energized Kali Hakik Mala in a Bhairav ​​temple.

 

काला जादू और तंत्र निवारण  गोरख शाबर मंत्र प्रयोग

Black Magic & Tantra Nivaran Gorakh Mantra

 

  • कई बार तंत्र या प्रेत बाधा से साधक की सफलता की गति रूक जाती है | यह गोरख शाबर मंत्र सभी प्रकार के स्तम्भन को दूर करने में सक्षम है | 
  • ये साधना शुक्रवार रात्रि को दस बजे के बाद प्रारम्भ की जा सकती है | 
  • साधक को स्नानादि से निवृत हो कर  पीले रंग के वस्त्र पहनने चाहिए | 
  • पीले रंग का आसान और उत्तर दिशा की और मुख करना चाहिए | 
  • धूप दीप और लोबान प्रज्वलित कर लें | 
  • अपने गुरु का पूजन कर प्राण प्रतिष्ठित रुद्राक्ष माला से इस शाबर मंत्र की 5 माला मंत्र जप करना चाहिए |
  •  
  • Many times a system or a phantom obstacle stops the seeker's success. This Gorakh Shabar Mantra is capable of removing all types of stagnation.
  • This practice can be started after ten o'clock on Friday night.
  • The seeker should wear yellow clothes after taking the bath.
  • Sit on a yellow color mat facing north.
  • Burn incense and frankincense.
  • After worshiping your Guru, you should chant 5 rounds of this Shabar Mantra with the Energized Rudraksha Mala.

 

मंत्र

दुबरा रे दुबरा, दुबरा रे दुबरौला, तिनका रे तिनका, तिनका रे तिनकौरा, राम राव राजा रंक राणा प्रजा वीर जोगी

सबका सिधौला नाम गुरु का काम गुरु का ढिंढौला|

dubra re dubra, dubra re dubraula, tinka re tinka, tinka re tinkaura, ram rav raja rank raana praja veer jogi

sabka sidhaula naam guru ka kam guru ka dindaula.

 

यह प्रयोग 5 शुक्रवार को संपन्न करना है जिससे यह मंत्र सिद्ध हो जाता है | इसके बाद नित्य 1 माला मंत्र जप लाभकारी होता है और सर्व-विध रक्षा करता है | 1 वर्ष के बाद माला किसी काली  मंदिर में चढ़ा दें |

This sadhana is to be performed on 5 Friday. After this, chanting the 1 Mala of this Mantra is beneficial. After 1 year, offer the Energized Rudraksha Mala in a Kali temple.


गृह रक्षा गोरख शाबर मंत्र प्रयोग

Home Safety Gorakh Shabar Mantra

 

  • यह गृह को सभी प्रकार की आपदाओं से रक्षा करता है और किसी भी प्रकार के प्राकृतिक और अप्राकृतिक आघात से सुरक्षित रखता है |  
  • ये साधना बुधवार  रात्रि को दस बजे के बाद प्रारम्भ की जा सकती है | 
  • साधक को स्नानादि से निवृत हो कर  पीले  रंग के वस्त्र पहनने चाहिए | 
  • पीले  रंग का आसान और पूर्व   दिशा की और मुख करना चाहिए | 
  • धूप दीप और लोबान प्रज्वलित कर लें | 
  • अपने गुरु का पूजन कर प्राण प्रतिष्ठित स्फटिक  माला से इस शाबर मंत्र की 5 माला मंत्र जप करना चाहिए |
  •  
  • It protects the home from all kinds of disasters and protects it from any kind of natural and unnatural calamities.
  • This practice can be started after ten o'clock on Wednesday night.
  • The sadhak should wear yellow clothes after taking the bath.
  • Sit on yellow color mat facing east.
  • Burn incense and frankincense.
  • After worshiping your Guru, one should chant 5 beads of this Shabar Mantra with the Energized Sphatik Rosary.
  •  

 मंत्र

 

कौड़ी लांघूँ आँगन लांघूँ, कोठी ऊपर महल छवाऊँ,गोरखनाथ

सत्य यह भाखै, दुआरिआ पे मैं अलख लगाऊँ ||

kaudi langhon aangan langhon. kothi upar mehal chhavaoon, gorakhnath

satya yeh bhakhae, duaria pe mein alakh lagaoon.

 

यह प्रयोग 5 बुधवार  को संपन्न करना है जिससे यह मंत्र सिद्ध हो जाता है | इसके बाद नित्य 1 माला मंत्र जप लाभकारी होता है और सर्व-विध रक्षा करता है | 1 वर्ष के बाद माला किसी दुर्गा  मंदिर में चढ़ा दें |

This adhana is to be performed on 5 Wednesday. After this, chanting the 1 Mala of this Mantra is beneficial. After 1 year, offer the Energized Sphatik Rosary to a Durga temple.

 

Note: Shabar Sadhana should only be attempted after receiving Shabar Deeksha from a Competent Guru.


 Contact WhatsApp

Published on Mar 18th, 2020


Do NOT follow this link or you will be banned from the site!